Browsed by
Category: VRAT KATHA – व्रत कथा

Hindi fastival vrat katha , karwa choth vrat katha , somvar vrat katha, navratre vrat katha

वट सावित्री व्रत कथा

वट सावित्री व्रत कथा

ऐसे करें वट सावित्री व्रत और पूजनसुहागन स्त्रियां वट सावित्री व्रत के दिन सोलह श्रृंगार करके सिंदूर, रोली, फूल, अक्षत, चना, फल और मिठाई से सावित्री, सत्यवान और यमराज की पूजा करें। यह व्रत करने वाली स्त्रियों को चाहिए कि वह वट के समीप जाकर जल का आचमन लेकर कहे-ज्येष्ठ मात्र कृष्ण पक्ष त्रयोदशी अमुक वार में मेरे पुत्र और पति की आरोग्यता के लिए एव जन्म-जन्मान्तर में भी मैं विधवा न होऊं इसलिए सावित्री का व्रत करती हूं। वट के मूल…

Read More Read More

Hanuman ki katha – मंगलवार व्रत की कथा

Hanuman ki katha – मंगलवार व्रत की कथा

भारत में हनुमान जी को अजेय माना जाता है. भारत में हनुमान जी को अजेय माना जाता है. मंगलवार व्रत की कथा (Hanuman ji ki katha) हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए की जाती है हनुमान जी अष्टचिरंजीवियों में से एक हैं. कलयुग में हनुमान जी ही एक मात्र ऐसे देवता हैं जो अपने भक्तो पर शीघ्र कृपा करके उनके कष्टों का निवारण करते हैं. मंगलवार भगवान हनुमान का दिन है. इस दिन व्रत रखने का अपना ही एक…

Read More Read More

Navratri Vrat Katha – नवरात्रि आरती

Navratri Vrat Katha – नवरात्रि आरती

Navratri vrat katha,चैत्र व आश्विन मास के शुक्लपक्ष में नवरात्रि का व्रत किया जाता है और नवरात्रि व्रत कथा और गरबा (Garba) खेला जाता है,गुजरात में लोग इस दिन व्रत करने के साथ-साथ गुजराती गरबा (Gujrati Garba )भी खेलते है एक समय बृहस्पति जी ब्रह्माजी से बोले- हे ब्रह्मन श्रेष्ठ! चैत्र व आश्विन मास के शुक्लपक्ष में नवरात्र का व्रत और उत्सव क्यों किया जाता है? इस व्रत का क्या फल है, इसे किस प्रकार करना उचित है? पहले इस…

Read More Read More

Shanivar vrat katha – शनिवार व्रत कथा

Shanivar vrat katha – शनिवार व्रत कथा

Shanivar vrat katha , शनि पक्षरहित होकर अगर पाप कर्म की सजा देते हैं तो उत्तम कर्म करने वाले मनुष्य को हर प्रकार की सुख सुविधा एवं वैभव भी प्रदान करते हैं। शनि देव की जो भक्ति पूर्वक व्रतोपासना करते हैं वह पाप की ओर जाने से बच जाते हैं जिससे शनि की दशा आने पर उन्हें कष्ट नहीं भोगना पड़ता। शनिवार व्रत कथा – Shanivar vrat katha शनि , भगवान सूर्य तथा छाया के पुत्र हैं। इनकी दृष्टि में…

Read More Read More

बृहस्पतिवार व्रत कथा

बृहस्पतिवार व्रत कथा

 उपवास सप्ताह के दिवस बृहस्पतिवार व्रत कथा को रखा जाता है।  गुरुवार के दिन बृहस्पतिवार व्रत की कथा सुनने और पूजा विधि करने से भगवान बृहस्पति देव बहुत प्रस्सन होते है बृहस्पतिवार व्रत की कथा सुनने के बाद पीला भोजन करना चाहिए बृहस्पतिवार व्रत की कथा – प्राचीन समय की बात है. किसी राज्य में एक बड़ा प्रतापी तथा दानी राजा राज्य करता था. वह प्रत्येक गुरूवार को व्रत रखता एवं भूखे और गरीबों को दान देकर पुण्य प्राप्त करता था परन्तु यह बात…

Read More Read More

बुधवार व्रत कथा और विधि – IN HINDI

बुधवार व्रत कथा और विधि – IN HINDI

बुधवार का व्रत बुध देव को प्रसन्न करने लिए और बुध गृह की शांति के लिए किया जाता है इस दिन पुरे विधि के साथ पूजा की जाती है और बुधवार व्रत कथा का पाठ किया जाता है ऐसा करने से भगवान बुध देव प्रसन्न होते है और घर में सुख शांति बनी रहती है बुधवार को गणेश जी की पूजा भी की जाती है बुधवार व्रत कथा एक समय किसी नगर में एक बहुत ही धनवान साहुकार रहता था….

Read More Read More

मंगलवार व्रत विधि – हनुमान जी का पूजन

मंगलवार व्रत विधि – हनुमान जी का पूजन

मंगल के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए और मंगल को बलि बनाने के लिए मंगलवार का व्रत विधि पूर्वक करना बहोत फलदायक है. इस व्रत को करने से ऋण का निवारण एवं आर्थिक समस्या का समाधान होताहै. यह व्रत संतति सौख्यप्रदायक एवं आत्म शक्ति तत्त्व का सूचक भी है. इस व्रत को निम्न तरीके से पूर्ण श्रद्धा के साथ करे. ********* मंगलवार व्रत विधि – मंगलवार का व्रत किसी भी माह के शुक्ल पक्ष के प्रथम मंगलवार से…

Read More Read More

Somvar vrat katha -श्रावण सोमवार व्रत कथा

Somvar vrat katha -श्रावण सोमवार व्रत कथा

Somvar vrat katha – श्रावण सोमवार व्रत कथा को पूरे विधि-विधान से करने के लिए जानें पूजन का तरीका , और भगवान शिव कि सोमवार व्रत कथा Somvar vrat katha पहले समय में किसी नगर में एक धनी व्यापारी रहता था. दूर-दूर तक उसका व्यापार फैला हुआ था. नगर के सभी लोग उस व्यापारी का सम्मान करते थे. इतना सब कुछ से संपन्न होने के बाद भी वह व्यापारी बहुत दुखी था. क्योंकि उसका कोई पुत्र नहीं था. जिस कारण…

Read More Read More